लार्सन एंड टूब्रो के पावर ट्रांसमिशन एंड डिस्ट्रीब्यूशन बिज़नेस को मिले 3 नए प्रोजेक्ट 

0 85

लार्सन एंड टूब्रो के पावर ट्रांसमिशन एंड डिस्ट्रीब्यूशन बिज़नेस को राष्ट्रीय एवं अंतराष्ट्रीय स्तर पर कई ऑर्डर्स मिल चुके हैं। राष्ट्रीय स्तर पर कंपनी को राजस्थान में 245 मेगावॉट का सोलर पावर प्लांट बनाने के अतिरिक्त गुजरात के कच्छ रणक्षेत्र में सोलर फोटोवोल्टिक (पीवी) व संचयन का एक प्रोजेक्ट भी मिला है। 

एवं अंतराष्ट्रीय स्तर पर, मध्य-पूर्वी क्षेत्र में 132 के.वी. सबस्टेशनों पर शंट रिएक्टर्स पहुँचाने और निर्माण करने का कार्य भी मिला है। कंपनी को मिले प्रति प्रोजेक्ट की कीमत लगभग 1000 से 2500 करोड़ रूपए है। 

गुजरात में बनने वाले ग्रिड इंटरैक्टिव ग्रीन एनर्जी स्टोरेज प्रोजेक्ट के तहत, लार्सन एंड टूब्रो कच्छ में 35 मेगावॉट (एसी) सोलर कैपेसिटी और 57 मेगावॉट प्रति घंटा वाले बैटरी एनर्जी स्टोरेज सिस्टम (बी.ई.एस.एस.) का निर्माण करेगा। ‘पीवी’  एक ऐसी प्रौद्योगिकी है जो धूप को सीधे विद्युत में परिवर्तित करती है और ये नवीकरणीय ऊर्जा उद्योग की सबसे तेज उत्पादक भागों में से एक है।

दूसरी तरफ, मध्य-पूर्वी क्षेत्र के दुबई में 132 के.वी.की विद्युत् संरचना में लार्सन एंड टूब्रो द्वारा स्थापित शंट रिएक्टर्स एक अहम् भूमिका निभाएंगे और वोलटेज नियंत्रण की सहायता से विद्युत् आबंटन के क्षेत्र में उपलब्धता, विश्वसनीयता और क्षमता बढ़ाएंगे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.